X close
X close
Top 10 Cricket News

अरुण जेटली के सम्मान में काली पट्टी बांधकर श्रद्धांजलि देगी भारतीय क्रिकेट टीम

by Vishal Bhagat Aug 24, 2019 • 17:19 PM

नई दिल्ली, 24 अगस्त | भारतीय क्रिकेट टीम वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के तीसरे दिन भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के पूर्व उपाध्यक्ष अरुण जेटली के सम्मान में अपने बाजुओं पर काली पट्टी बांधकर मैच खेलने उतरेगी। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और पूर्व क्रिकेट प्रशासक जेटली का शनिवार को राजधानी के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। 

बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने आईएएनएस के साथ बातचीत में कहा कि काली पट्टी बांधकर खेलने का विचार कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी का था, जिसका कि प्रशासकों की समिति (सीओए) और सीईओ राहुल जौहरी ने भी समर्थन किया। 

Also Read: Tendulkar enthralls runners with life stories on eve of MHM

उन्होंने कहा, "अनिरुद्ध को यह महसूस हुआ कि खिलाड़ियों को अपने बाजुओं पर उस व्यक्ति के सम्मान में काली पट्टी बांधकर खेलना चाहिए, जिन्होंने बीसीसीआई प्रशासन में बड़ी भूमिका निभाई है।" 

चौधरी ने कहा कि जेटली का अचानक जाना, उनके लिए बहुत बड़ी निजी क्षति है क्योंकि उन्होंने पूर्व उपाध्यक्ष के साथ काफी समय तक काम किया था। 

उन्होंने कहा, "जेटली जी के निधन के बारे में सुनकर गहरा दुख हुआ। मुझे बीसीसीआई में विभिन्न पदों पर उनके साथ काम करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। उनके पास किसी भी हालात को पढ़ने और अमूल्य सलाह देने की अभूतपूर्व क्षमता थी। मुझे लगता है कि इसी चीज ने उन्हें राजनीति और क्रिकेट की दुनिया में हर किसी के लिए एक खास व्यक्ति बना दिया।" 

उन्होंने कहा, मैंने हर मुलाकात के साथ उनसे बहुत कुछ सीखा। उनका जाना मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है और मैं उन्हें हमेशा याद करूंगा। मैं उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।" 

बीसीसीआई ने भी जेटली के निधन पर शोक व्यक्त किया है। 

बोर्ड ने अपने एक शोक संदेश में कहा, "बीसीसीआई अपने पूर्व उपाध्यक्ष और पूर्व आईपीएल संचालन परिषद के सदस्य जेटली के निधन पर शोक व्यक्त करता है। जेटली एक जुनूनी क्रिकेट प्रशंसक थे। उन्हें हमेशा क्रिकेट के सक्षम और सम्मानित प्रशासकों में से एक के रूप में याद रखा जाएगा।" 

बीसीसीआई ने कहा, "दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष के रूप में लंबे कार्यकाल के दौरान उन्होंने क्रिकेट ढांचे में काफी बदलाव किया। वह क्रिकेटरों के हमेशा करीबी मित्र रहे और हमेशा उनके साथ खड़े रहे, उन्होंने उन्हें प्रोत्साहित किया और उनका समर्थन किया। बीसीसीआई उनकी आत्मा की शांति की प्रार्थना करता है।"