X close
X close
Indibet

ईशांत शर्मा की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी की बदौलत न्यूजीलैंड 192 पर ढेर

by Saurabh Sharma Jan 22, 2015 • 19:14 PM

वेलिंगटन/नई दिल्ली, 14 फरवरी (हि.स.) । न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट के पहले दिन भारत ने तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा के करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी की बदौलत न्यूजीलैंड को मामूली स्कोर पर रोक लिया। भारत के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने इस दौरे पर लगातार सातवीं बार टॉस जीतकर न्यूजीलैंड को पहले बल्लेबाजी करने के लिये आमंत्रित किया। धोनी के फैसले को सही साबित करते हुए ईशांत तथा शमी ने बेहतरीन गेंदबाजी का प्रदर्शन करते हुए कीवी टीम को 52.5ओवरों में मात्र 192 के मामूली स्कोर पर ढेर कर दिया।

अपनी पहली पारी की शुरुआत करते हुये भारत ने28 ओवरों में दो विकेट गंवाकर 100 रन बना लिये हैं और अभी वह न्यूजीलैंड के स्कोर से सिर्फ 92 रन पीछे है, जबकि उसके पास आठ विकेट शेष हैं। ओपनर शिखर धवन (नाबाद 71) और चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे ईशांत शर्मा (नाबाद 3) रन बनाकर क्रीज पर डटे हुये हैं।

पिछले मैचों में अपने प्रदर्शन को लेकर आलोचनाओं में घिरे शिखर ने इस पिच पर काफी संभलकर बल्लेबाजी की और 87 गेंदों में 10 बेहतरीन चौके और एक छक्का लगाकर नाबाद 71 रन बना लिये, लेकिन दूसरे नंबर पर उतरे मुरली विजय ने एक बार फिर निराश किया और केवल 2 रन पर टिम साउथी का शिकार बन गये।

भारत के टेस्ट विशेषज्ञ चेतेश्वर पुजारा एक बार फिर फ्लॉप साबित हुये और वह 19 रन ही बना सके थे कि ट्रेंट बोल्ट ने उन्हें बोल्ड कर पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। इसी के साथ भारत ने अपने दो विकेट 89 के स्कोर तक गंवा दिये, लेकिन भारतीय गेंदबाजों के सामने इस बार न्यूजीलैंड के धुरंधर बल्लेबाज भी कोई कमाल नहीं दिखा सके।

पहले दिन ईशांत ही मैच के हाईलाइट रहे, जिन्होंने लगातार दूसरे टेस्ट में अपनी गेंदबाजी से सभी को चौंकाया और अपने आलोचकों को भी करारा जवाब दिया। न्यूजीलैंड की ओर से अकेले केन विलियमसन ही सर्वाधिक47 रनों की पारी खेल सके। विलियमसन ने 100 गेंदों में छह चौके भी लगाये। न्यूजीलैंड को शुरुआती झटके देने वाले 25 वर्षीय भारतीय तेज गेंदबाज ने सबसे पहले हामिश रदरफोर्ड का विकेट लिया और उन्हें 12 रन के निजी स्कोर पर पवेलियन का रास्ता दिखाया।

न्यूजीलैंड ने 23 के स्कोर पर पहला विकेट गंवाया और सिर्फ तीन रन और जोड़कर 26 के स्कोर पर पीटर फुल्टन (13) को ईशांत ने पगबाधा कर दिया। ईशांत ने चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे लाथम को खाता खोलने का मौका दिये बिना कप्तान धोनी के हाथों कैच कराया। कप्तान ब्रैंडन मैक्कुलम (8) को अन्य तेज गेंदबाज शमी ने अपना शिकार बनाया।

शमी ने पांचवें नंबर पर उतरे मैक्कुलम को ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा के हाथों कैच कराया। मैच में खास बात यह रही कि अकेले ईशांत और शमी ने ही भारतीय गेंदबाजी का मोर्चा संभाले रखा। हालांकि मैच में दो बार ऐसा हुआ जब जहीर के हाथ विकेट लगभग आ चुके थे। लंच से पहले फाइनल ओवर में एक समय विलियमसन को जहीर के हाथों आउट दिया भी गया, लेकिन दोनों बार टीवी रिप्ले में गेंदबाज को मार्क पर दिखाया गया जिससे जहीर विकेट से चूक गये।

भारत के लिये खतरा माने जा रहे कोरी एंडरसन ने 43 गेंदों में तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 24 रन जोड़े। एंडरसन को भी ईशांत ने ही आउट किया। इस समय तक मैच पर भारत ने अपनी पकड़ मजबूत कर ली थी। इसके बाद बीजे वॉटलिंग को भी ईशांत ने शून्य पर आउट किया। हालांकि न्यूजीलैंड के अन्य बल्लेबाज जेम्स नीशाम ने अपने पर्दापण मैच में आखिरी समय में कुछ रन बटोरने का प्रयास किया और 35 गेंदों में सात शानदार चौके लगाकर 33 रन जोड़े, जबकि टिम साउथी ने 32 गेंदों में एक चौके और तीन छक्के लगाकर 32 रन जोड़े।

नीशाम को शमी ने और साउथी को ईशांत ने आउट किया। ट्रेंट बोल्ट (2) आखिरी बल्लेबाज के रूप में शमी के हाथों आउट हुये। भारत की ओर से ईशांत ने 17 ओवरों में 51 रन देकर छह विकेट लिये, जबकि शमी ने 16.5ओवरो 70 रन पर चार विकेट लिये। जहीर को 17 ओवरों में 57 रन देकर कोई विकेट नहीं मिला। दिन का खेल समाप्त होने तक न्यूजीलैंड की ओर से बोल्ट ने नौ ओवरों में 18 रन देकर एक विकेट और साउथी ने सात ओवरों में 2० रन पर एक विकेट लिया।

हिन्दुस्थान समाचार/सुनील

Other Legends

Latest Cricket News

Article